Plagiarism क्या है

Plagiarism क्या है? – 4 Plagiarism Checker for Hindi Blog

Plagiarism क्या है? (What is Plagiarism in Hindi) और Hindi blogs के लिए checker tools कोनसे है इस के बारे में आपको नहीं पता तो इस पोस्ट को पढ़ कर आप जान पाएंगे।

आज भी बहुत सारे नए bloggers यह सोचते हैं कि दूसरे ब्लॉग से copy और paste करने से उन्हें अधिक traffic मिल सकता है और यह earning बढ़ाने का एक आसान तरीका है। लेकिन में नए bloggers को बतादू की यह तरीका बिलकुल wrong है और इससे आपकी website को काफी नुकासन हो सकता है।

ब्लॉगिंग की दुनिया में यह बहुत आम शब्द है, लेकिन अगर आप plagiarize के बारे में नहीं जानते हैं या आपको इसके बारे में स्पष्ट विचार नहीं है तो मैं आपको बताने जा रहा हूँ कि वास्तव में यह होता क्या है।

Plagiarism क्या है

Plagiarism का मतलब है किसी के words, pictures या video को original author को credit दिए बिना या उसकी permission के बिना अपने ब्लॉग या website में use करना।

यदि कोई अन्य website के content को अपनी ब्लॉगिंग साइट पर उपयोग करने के बारे में सोचता है तो यह वास्तव में एक बुरा विचार होगा। यदि आप अन्य ब्लॉग से कॉपी करते हैं तो यह आपके ब्लॉग के लिए harmful होगा और मैं clearly कह सकता हूं कि आप इस प्रक्रिया से कभी भी एक successful blogger नहीं बन पाएंगे।

Plagiarism के नुकसान

आपको यह जानना बहुत जरूरी है की plagiarized content से blog या website को कितना नुकसान है। यहाँ मेने जो points बताये है वह हर नए bloggers के साथ होते है, तो आप इसे जानिए और बचिए।

1. SEO पर असर करता है

यदि आपकी website या blog का content plagiarized है तो आप blog का traffic खो देंगे क्योंकि इसका सीधा असर आपकी वेबसाइट के SEO पर पड़ा है। Google यह पता लगाने में बहुत स्मार्ट है कि आपकी सामग्री किसी अन्य साइट से ली गई है या नहीं।

जब लोग Google पर कुछ भी सर्च करते है तो Google उन्हें बेस्ट result देने का प्रयास करता है। वह unique information blog को top में रखता है और plagiarized content blog की ranking को zero करदेता है।

2. Google द्वारा site को penalty मिल सकती है

किसी website में blog में plagiarized issue है तो Google उसे penalize कर सकता है। फिर आप Google से अपने लगभग सभी organic traffic को खो देंगे और उसी साइट को Google के किसी भी प्रकार के penalty से पुनर्प्राप्त करना आसान नहीं है।

3. Original owner कानूनी कार्रवाई कर सकता है

Original content owner के पास Copyright या DMCA protection है और आप उसका content कॉपी करते है, तो content owner आपके खिलाफ कानूनी कार्रवाई कर सकता है। यहां तक कि content copy करने पर आपको कोर्ट केस या जुर्माना भरना पड़ सकता है या आपको सजा मिल सकती है।

Plagiarism से कैसे बचे

यहाँ पर में आपको कुछ tips दूंगा जिससे आप अपने content को plagiarized होने से बचा पाएंगे, आप इसे regular follow करेंगे तो एक successful blogger भी बन पाएंगे और कभी भी google की तरह से आपको penalty नहीं मिलेगी।

1. Proper Research करे

जब भी आप किसी topic पर लिखे उसे पहले आप proper research करे ताकि कभी भी copy का issue न आये, क्यूंकि बहुत बार ऐसा होता है की हम जो भी लिखते है वह Google पर पहले से होता है। आप research करे, जिस topic पर लिखना चाहते है उसकी कोनसी information पहले से ही मौजूद है उसे चेक करे, उस टॉपिक में कोनसी information नहीं है उस पर लिखे ताकि users को कुछ नया मिले।

2. Owner को Credit दे

आप अपने ब्लॉग में जरूरी information को third party ब्लॉग से add करे लेकिन साथ ही उस blog को credit जरूर दे ताकि आप plagiarized से बच सके। आप pictures, video या content का कुछ पार्ट use करे तो साथ ही उस blog का link जरूर add करे ताकि visitors और content owner को परेशानी ना हो।

3. Plagiarism checker tool का use करे

Plagiarized content के issue से बचने के लिए आप plagiarism checker tool का इस्तेमाल कर सकते है, जिसका उपयोग करके आप अपने content कितना original है वह check कर सकते है। Internet पर आपको बहुत free और paid टूल मिल जायेगे जिससे आप content को check कर सकते है, लेकिन Hindi text चेक करने के लिए आपको सिमित tool ही मिलेंगे जो सही accuracy बता सकते है।

Plagiarism Checker Tools for Hindi Blog

English content को check करने के लिए आपको बहुत tools मिल जायेगे, लेकिन में यहाँ आपको Hindi blog को check करने वाले tools के बारे में बताऊंगा जिसको मेने खुद use किया है और इसकी accuracy भी बढ़िया है।

1. Plagiarismdetector.net

यदि आप free में अपने Hindi content को check करना चाहते है तो Plagiarismdetector.net tool आपको बहुत काम आ सकता है। इस टूल को मैंने personally use किया है और इसकी Hindi blog को check करने में और result देने में accuracy काफी अच्छी है। में अपनी website के पोस्ट को इस tool में regularly check करता हु और इसकी accuracy में कोई शंका नहीं है।

Features:

  • आपको एक plagiarized copy score देता है।
  • साथ ही आपको यहाँ unique text score भी मिलता है।
  • आप report download कर सकते हैं।
  • इसका उपयोग free में कर सकते है।
  • यहाँ Signup की जरूरत नहीं है।
  • इसमें आप URL paste करके भी चेक कर सकते है।

2. Copyscape

Plagiarism और duplicate content की पहचान करने के लिए Copyscape सबसे लोकप्रिय tool है। Copyscape आपको उन सभी वेबसाइटों को आसानी से ढूंढने के देता है, जिन्होंने आपके content को बिना अनुमति के कॉपी किया है।

Features:

  • Free में use कर सकते है (Premium version में आपको ज्यादा features मिलेंगे)
  • आप Copyscape के कुछ banners को use कर सकते है, जिससे लोग आपके content को copy करने से डरे।
  • यह tool आपको अपने ब्लॉग के similar text content कही और है या नहीं वह चेक करता है ताकि आप action ले सके।

3. SmallSEOTools

Small SEO Tools एक ऐसी वेबसाइट है जो plagiarism checking tool के साथ-साथ 100% free SEO tool प्रदान करती है। यहाँ आप अन्य SEO tools जैसे link tracker, rank checker, grammar check, paraphrasing tool का उपयोग कर सकते हैं। हालाँकि इनका duplicate content checker काफी अच्छा है और आप इन सभी tools का उपयोग free और signup के बिना कर सकते है।

Features:

  • इसकी URL द्वारा duplicate content ढूंढ ने की क्षमता है।
  • आप एक बार में 1000 words तक search कर सकते हैं।
  • duplicate content ढूंढते समय आप किसी specific URL को exclude कर सकते हैं।
  • इसका उपयोग 100% free और signup की जरूरत नहीं है।

4. DupliChecker

DupliCheker बिना किसी signup के एक free online plagiarism detection tool प्रदान करती है। यहा आप एक बार में सिर्फ 1000 words तक search कर सकते हैं जो एक professional blogger के लिए काफ़ी नहीं है लेकिन beginners के लिए great tool है।

Features:

  • यह उपयोग करने के लिए 100% free है और आपको accurate results दिखाता है, लेकिन Pro version में ज्यादा फीचर्स है।
  • Duplicate content issues का पता लगाने के लिए आप एक बार में 1000 words तक free में search कर सकते है।
  • आपको साथ में original content sources भी दिखाता है, ताकि आपको पता चल जाए कि copy की गया content कहां से आया है।

आपने क्या सीखा

आपने मेरी Plagiarism क्या है? (What is Plagiarism in Hindi) पोस्ट से क्या सीखा उसके बारे में comment करके या मेरे Facebook, Instagram account से जुड़कर बता सकते है। यहाँ मेने आपको Hindi text को check करने के लिए जो tools के बारे मे बताया है उसको use करके आप भी duplicate content के issue से बच सकते है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *